Friday, February 15, 2019

Transformer Question Answer



प्रश्न – ट्रांसफार्मर क्या है


उत्तर ट्रांसफॉर्मर एक प्रत्यावर्ती धारा स्थैतिक मशीन है जो समान फ्रीक्वेंसी पर कम वोल्टेज की पावर को हाई वोल्टेज की पावर में एवं उच्च वोल्टेज की पावर को निम्न वोल्टेज की पावर में एक सर्किट से दूसरे सर्किट में ट्रांसफर करती है


प्रश्न – ट्रांसफार्मर किस सिद्धांत पर कार्य करता है


उत्तर ट्रांसफार्मर म्यूच्यूअल इलेक्ट्रोमैग्नेटिक इंडक्शन के सिद्धांत पर कार्य करता है


प्रश्न – ट्रांसफार्मर में उत्पन्न चुंबकीय फ्लक्स का वास्तविक नाम क्या है और क्यों

उत्तर ट्रांसफॉर्मर में उत्पन्न फ्लक्स का वास्तविक नाम म्यूच्यूअल मैग्नेटिक फ्लक्स है, क्योंकि यह ट्रांसफार्मर की सेकेंडरी वाइंडिंग में म्यूचुअल इंड्यूस्ड इलेक्ट्रोमोटिव फोर्स उत्पन्न करता है, इन्हें कॉमन मैग्नेटिक फ्लक्स भी कहते हैं, क्योंकि यह दोनों वाइंडिंग में कॉमन होते हैं, इसका मतलब यह चुंबकीय फ्लक्स प्राइमरी एवं सेकेंडरी दोनों वाइंडिंग में एक साथ लिंक होते हैं

प्रश्न – ट्रांसफार्मर में प्रयुक्त इलेक्ट्रोमैग्नेटिक सर्किट का वास्तविक नाम क्या है और क्यों

उत्तर ट्रांसफार्मर में प्रयुक्त इलेक्ट्रो मैग्नेटिक सर्किट का वास्तविक नाम कॉमन इलेक्ट्रो मैग्नेटिक सर्किट है, क्योंकि यह प्राइमरी व सेकेंडरी दोनों वाइंडिंग में कामन होता है इसका मतलब दोनों वाइंडिंग में एक साथ लिंक होता है

प्रश्न – ट्रांसफार्मर की प्राइमरी तथा सेकेंडरी वाइंडिंग में इंड्यूस्ड ईएमएफ में क्या अंतर होता है

उत्तर ट्रांसफार्मर की प्राइमरी वाइंडिंग में इंड्यूस्ड ईएमएफ एक सेल्फ इंड्यूस्ड ईएमएफ होता है, जबकि सेकेंडरी वाइंडिंग में इंड्यूस्ड ईएमएफ एक म्यूच्यूअल इंड्यूस्ड ईएमएफ होता है

प्रश्न – यदि एक हाई रेटिंग वाले ट्रांसफार्मर को लो वोल्टेज की D.C. सप्लाई दी जाए तो आउटपुट वोल्टेज प्राप्त होगी या नहीं और क्यों

उत्तर यदि उच्च क्षमता वाले ट्रांसफार्मर को लो वोल्टेज की D.C. सप्लाई दी जाए तो आउटपुट वोल्टेज प्राप्त नहीं होगी अर्थात आउटपुट वोल्टेज शून्य होगी क्योंकि लिंक्ड फ्लक्स में परिवर्तन नहीं हो रहा है


            विदित हो कि D.C. से कांस्टेंट मेग्नीट्यूड वाले फ्लक्स उत्पन्न होते हैं और ट्रांसफॉर्मर एक स्टैटिक डिवाइस होती है इसलिए यहां पर फ्लक्स में चेंज होना या फ्लक्स का कटना संभव नहीं होता परिणाम स्वरूप ई एम एफ जनरेट नहीं होता

प्रश्न – ट्रांसफार्मर किस प्रकार की विद्युत पर कार्य करता है और क्यों

उत्तर ट्रांसफॉर्मर एक प्रत्यावर्ती विद्युत अथवा A.C. पर ही कार्य करता है क्योंकि प्रत्यावर्ती विद्युत ही एकमात्र परिवर्तनीय परिमाण की नान यूनिडायरेक्शनल करंट होती है जिससे म्युचुअल इलेक्ट्रोमैग्नेटिक इंडक्शन संभव होता है

प्रश्न – किसी ट्रांसफार्मर की अधिकतम दक्षता कब प्राप्त होती है

उत्तर ट्रांसफार्मर में आयरन लॉस का मान का कॉपर लॉस के बराबर होने पर किसी ट्रांसफार्मर की अधिकतम दक्षता प्राप्त होती है

प्रश्न – ट्रांसफार्मर में मेकेनिकल लॉसेस का मान कितना होता है और क्यों

उत्तर ट्रांसफार्मर में मैकेनिकल लॉसेस का मान शून्य होता है क्योंकि इसमें किसी भी प्रकार का घूमने वाला पार्ट नहीं होता है अर्थात यह एक पूर्ण रूप से स्थिर यंत्र होता है

प्रश्न – ट्रांसफार्मर की अपेक्षा समान क्षमता वाले जनरेटर एवं मोटरों की दक्षता कम क्यों होती है

उत्तर ट्रांसफॉर्मर एक स्टैटिक मशीन है जिसमें मैकेनिकल लॉस नहीं होता है इसलिए इसकी दक्षता उच्च होती है जबकि जनरेटर एवं मोटर दोनों ही रोटेटिंग मशीन है जिसमें यांत्रिक एवं विद्युतीय दोनों प्रकार की हानिया होती हैं इसलिए इनकी दक्षता ट्रांसफार्मर की अपेक्षा कम होती है

प्रश्न – आदर्श ट्रांसफार्मर क्या है

उत्तर आदर्श ट्रांसफार्मर जिसकी दक्षता 100% होती है, आदर्श ट्रांसफॉर्मर कहलाता है इसमें वोल्टेज ड्रॉप एवं पावर लॉस, फ्लक्स लीकेज आदि बहुत कम होते हैं इससे इस का वोल्टेज रेगुलेशन भी उत्तम होता है

प्रश्न – ट्रांसफॉर्मर की एफिशिएंसी किन-किन फैक्टर पर निर्भर करती है

उत्तर ट्रांसफार्मर की एफिशिएंसी 3 फैक्टर्स पर निर्भर करती है (1) आउटपुट (2)  इनपुट  (3)  लॉसेस

प्रश्न – ट्रांसफार्मर की दक्षता ज्ञात करने का सूत्र क्या है

उत्तर ट्रांसफार्मर की दक्षता ज्ञात करने का सूत्र –
प्रश्न – संरचना के अनुसार सिंगल फेस के छोटे ट्रांसफार्मर प्राय: किस प्रकार के होते हैं और क्यों

उत्तर प्राय: सिंगल फेस के छोटे ट्रांसफार्मर की संरचना शेल टाइप की होती है क्योंकि यह सुसंगठित एवं टिकाऊ एवं अच्छे परफॉर्मेंस वाला होता है

प्रश्न – ट्रांसफार्मर की रेटिंग को किस मात्रक में दर्शाया जाता है

उत्तर ट्रांसफार्मर की दक्षता को प्राय:  किलो वोल्ट एंपियर (KVA) मात्रक में दर्शाया जाता है परंतु एक्स्ट्रा हाई आउटपुट वाले ट्रांसफार्मर की क्षमता को मेगा वोल्ट एंपियर (MVA) मात्रक में दर्शाया जाता है

प्रश्न – क्या होगा यदि ट्रांसफॉर्मर में A.C. सप्लाई के स्थान पर समान वोल्टेज की D.C. सप्लाई दी जाए

उत्तर ट्रांसफॉर्मर जलकर नष्ट हो जाएगा क्योंकि ट्रांसफार्मर की वाइंडिंग का प्रतिरोध (R)  प्रतिबाधा (Z) की अपेक्षा बहुत कम होता है इसीलिए ट्रांसफार्मर की प्राइमरी वाइंडिंग जिसमें सप्लाई दी जाती है उसमें हाई करंट फ्लो होगा जो कि प्राइमरी वाइंडिंग को जलाकर नष्ट कर देगा

प्रश्न – ट्रांसफॉर्मर के कोर को प्रायः लैमिनेटेड क्यों किया जाता है

उत्तर ट्रांसफॉर्मर के कोर को लैमिनेटेड करने के कारण कोर में एडी करंट लॉस कम हो जाता है फलस्वरूप ट्रांसफार्मर की एफिशिएंसी बढ़ जाती है

प्रश्न – इंस्ट्रूमेंट ट्रांसफार्मर कितने प्रकार के होते हैं

उत्तर इंस्ट्रूमेंट ट्रांसफॉर्मर दो प्रकार के होते हैं (1) करंट ट्रांसफॉर्मर (2) पोटेंशियल ट्रांसफॉर्मर

प्रश्न – इंस्ट्रूमेंट ट्रांसफॉर्मरो का क्या उपयोग है

उत्तर इंस्ट्रूमेंट ट्रांसफॉर्मरो का निम्नलिखित उपयोग है :-

(1)  इनका प्रयोग उच्च विद्युत धारा , उच्च वोल्टेज एवं उच्च शक्ति संबंधी मापक यंत्रों के साथ होता है

(2)  इनका प्रयोग विद्युत की प्रोटेक्टिंग डिवाइस के साथ होता है


1 comment:

Popular Posts

Subscribe Us

Enter your email address:

Delivered by ITIguru